सेक्स के दौरान दर्द के लक्षण, कारण, इलाज और उपाय

सेक्स के दौरान दर्द के लक्षण, कारण, इलाज और उपाय

सेक्स के दौरान दर्द के लक्षण, कारण, इलाज और उपाय

नमस्ते दोस्तों, आज हम आपको सेक्स के दौरान दर्द के लक्षण, कारण, इलाज और उपाय बताने वाले हैं | सेक्स के दौरान बहुत सारे कपल्स को बहुत ज्यादा दर्द होता है, कई बार दर्द होने के कारण भी बहुत सारे कपल्स सेक्स नहीं करते हैं | दोस्तों दर्द होने के कारण अगर आप सेक्स नहीं करोगे तो आपका रिश्ता सख्त बनना नामुमकिन है, अगर आपको लगता है कि आपका रिश्ता हमेशा मजबूत रहे तो आप दोनों में सेक्स थोड़े थोड़े दिनों बाद होना जरूरी है |

सेक्स के दौरान दर्द के लक्षण, कारण, इलाज और उपाय
सेक्स के दौरान दर्द के लक्षण, कारण, इलाज और उपाय

सेक्स ना होने के कारण आप दोनों में झगड़ा होने की भी संभावना होती है, कई बार महिलाओं के योनि में सेक्स करते समय बहुत ज्यादा दर्द होता है | लेकिन दर्द होने के बाद भी महिलाएं पुरुषों पर रिएक्ट नहीं होती हें, दोस्तों अगर आपकी पत्नी को सेक्स करते समय योनि में बहुत ज्यादा दर्द होता है तो आपने इस बात को नजरअंदाज ना करते हुए पत्नी के साथ सेक्स नहीं करना चाहिए | बहुत सारे पुरुष पत्नी को दर्द होने के बावजूद भी पत्नी के साथ सेक्स करते हैं, दोस्तों आपने ऐसा बिल्कुल नहीं करना चाहिए | अगर आपके लिंग में दर्द होने के बावजूद भी आप सेक्स करोगे तो आप ही सोचो आपके लिंग में कितना दर्द होगा, इन छोटी-छोटी बातों को ध्यान में रखकर आपने हमेशा अपने पार्टनर की निगाह रखना भी जरूरी है | संभोग के दौरान कई बार दोनों पुरुषों के और महिलाओं के सेक्स अंगों में दर्द होना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन आज हम आपको सेक्स के दौरान दर्द के लक्षण, कारण, इलाज और उपाय बताने वाले हैं | इन तरीकों को अपनाने के बाद आपके गुप्तांगों में दर्द नहीं होगा |

loading...

सेक्स के दौरान दर्द के लक्षण कारण इलाज और उपाय -:

संभोग के दौरान दर्द के लक्षण क्या है -:

संभोग के दौरान दर्द के लक्षण क्या है
संभोग के दौरान दर्द के लक्षण क्या है
  • संभोग करते वक्त अगर आपके योनि में या आपके लिंग में बहुत ज्यादा दर्द होता है तो आपने संभोग नहीं करना चाहिए | दर्द होने के बावजूद भी आपको सेक्स करने की इच्छा होती है तो आपने धीरे-धीरे सेक्स करने का आनंद लेना चाहिए, देखा जाए तो संभोग के दौरान दर्द के बहुत सारे लक्षण होते हैं | कई बार सेक्स के पहले जब महिलाओं की योनि दर्द करती है तब महिलाओं की योनि से पीले रंग का पानी बाहर निकलता है |
  • पीले रंग का पानी बाहर निकलना मतलब आपकी योनि के अंदर चोट होने की संभावना होती है, पीले रंग का पानी अगर बाहर निकलता है तो आपने संभोग नहीं करना चाहिए | कई बार योनि के मुख की गहराई में भी दर्द होता है, क्योंकि महिलाओं के गर्भ में अगर छोटी सी चोट भी पहुंच जाती है तो महिलाओं को बहुत ज्यादा दर्द होता है |
  • कई बार पुरुषों को भी सेक्स करने से पहले या सेक्स करते वक्त लिंग के मुंड पर दर्द होने लगता है | कई बार पुरुषों को और महिलाओं को गुप्तांगों में दर्द, जलन, धमक या तेज सनसनाहट हो सकती है | ऐसे बहुत सारे संभोग के दौरान दर्द के लक्षण होते हैं, इन लक्षणों को जानकर आपने सेक्स करना है या नहीं का डिसीजन लेना चाहिए |

सेक्स के दौरान होने वाले दर्द का कारण -:

सेक्स के दौरान होने वाले दर्द का कारण
सेक्स के दौरान होने वाले दर्द का कारण
  • देखा जाए तो सेक्स के दौरान होने वाले दर्द के बहुत सारे कारण होते हैं, लेकिन बहुत सारे कारण ऐसे हैं जो महिलाओं को और पुरुषों को दोनों को होते हैं | देखा जाए तो सेक्स करते समय महिलाओं को योनि में बहुत ज्यादा दर्द होने लगता है, महिलाओं को अगर योनि में बहुत ज्यादा दर्द होता है तो महिलाओं ने जल्द से जल्द योनि में दर्द होने का इलाज डॉक्टरों से लेना जरूरी है | कई बार जब पुरुष अपने लिंग को योनि में डालता है तब महिलाओं को योनि में बहुत ज्यादा दर्द होता है |
  • क्योंकि इस समय महिलाओं की योनि बिल्कुल सुखी होती है, सुखी योनि में अगर पुरुष अपना लिंग डालेगा तो महिलाओं के योनि में फ्रिक्शन तैयार नहीं होगा, जिसके कारण योनि में दर्द या सनसनाहट पैदा होने की संभावना ज्यादा होती है | अगर आपको लगता है कि योनि में दर्द नहीं होना चाहिए तो आपने सेक्स करने से पहले फोरप्ले करना जरूरी है, सेक्स करने से पहले अगर आप फोरप्ले नहीं करोगे तो आप दोनों के गुप्तांग सेक्स करने के लिए तैयार नहीं रहेंगे |
  • इसलिए फोरप्ले करना बहुत ज्यादा जरूरी है | फोरप्ले करने से महिलाओं की योनि पूरी तरह से गीली हो जाती है, योनि गीली होने के कारण पुरुष आसानी से अपना लिंग महिला की योनि में डाल सकता है | योनि गीली होने के कारण यह सेक्स करते समय लुब्रिकेंट का काम करता है |
  • महिलाओं ने कभी भी योनि को सुखा नहीं रखना चाहिए, अगर आप योनि के सूखेपन से बहुत ज्यादा परेशान हो तो जल्द से जल्द आपने ट्रीटमेंट लेना जरूरी है | जब महिलाओं के शरीर में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन की कमी होती है तब महिलाओं को सेक्स करते समय योनि में दर्द होता है | कई बार महिलाओं के योनि में अगर लुब्रिकेंट पैदा नहीं होता है तो इसके वजह से पुरुषों को भी सेक्स करते समय बहुत ज्यादा दर्द होता है |
  • कई बार योनि में संकुचन होने के बावजूद भी योनि में दर्द होता है, अगर आपकी योनि का संकुचन हो जाता है तो आपने हर रोज पेल्विक व्यायाम करना चाहिए | कई बार योनि का संकुचन होने के बावजूद भी योनि में दर्द होता है, अगर आपकी योनि का संकुचन हो जाता है तो आपने हर रोज पेल्विक हड्डी का व्यायाम करना चाहिए | पेल्विक मांसपेशियों को मजबूत करने से आपको योनि में दर्द बिल्कुल नहीं होगा, कई बार गुप्तांगों में चोट होने के कारण भी सेक्स करते समय गुप्तांगों में दर्द होता है, अगर आपके जननांग के क्षेत्र में किसी प्रकार की चोट है तो यह डिस्प्लेयूरिया का कारण हो सकता हें |

सेक्स के दौरान होने वाले दर्द से कैसे बचें -:

सेक्स के दौरान होने वाले दर्द से कैसे बचें
सेक्स के दौरान होने वाले दर्द से कैसे बचें
  • कई बार गुप्तांगों में दर्द होने के बाद बहुत सारे कपल्स डॉक्टर से ट्रीटमेंट लेते हैं | डॉक्टर से ट्रीटमेंट लेने के बाद यह दर्द कम हो जाएगा ऐसा आपको लगता है तो यह बिल्कुल गलत बात है | सेक्स के दौरान अगर आपको गुप्त अंगों का दर्द कम करना है तो आपने हर रोज पेल्विक हड्डियों का व्यायाम करना जरूरी है | खासकर महिलाओं ने हर रोज पेल्विक हड्डी का व्यायाम करना जरूरी है, व्यायाम करने के साथ-साथ महिलाओं ने हमेशा प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजन हार्मोन संतुलित रखना बहुत ज्यादा जरूरी है | यह दोनों हॉर्मोन महिलाओं के गुप्त अंगों को हमेशा स्ट्रांग रखने में मदद करते हैं |
  • गुप्तांगो के दर्द को कम करने के लिए बाजार में बहुत सारी दवाइयां बनती है, इन दवाइयों का सेवन करने के बाद आपको गुप्तांगों में दर्द नहीं होगा | कई बार गुप्तांगों में संक्रमण होने के कारण भी गुप्तांगों में दर्द होता है, इसलिए पुरुषों ने और महिलाओं ने कभी भी अपने सेक्स ऑर्गंस में संक्रमण नहीं होने देना चाहिए | खासकर महिलाओं के योनि में संक्रमण होने की ज्यादा संभावना होती है क्योंकि महिलाएं पीरियड्स के वक्त कभी भी योनि को ज्यादा साफ नहीं करती है | महिलाओं ने पीरियड्स के वक्त ज्यादा से ज्यादा साफ सफाई पर ध्यान देना जरूरी है, इन छोटी-छोटी बातों को अगर आप ध्यान में नहीं रखोगे तो आपको गुप्तांगों में दर्द होना बरकरार रहेगा |
  • डिसेंट्री डाइजेशन यह थेरेपी करने से महिलाओं के योनि में दर्द बिल्कुल कम होता है, इस थेरेपी को करने से महिलाओं के शरीर में प्रोजेस्टेरोन हार्मोन और एस्ट्रोजन हार्मोन की निर्मिति भी की जाती है | जिसके कारण दर्द होना बिल्कुल कम हो जाता है, दर्द कम करने के लिए पेल्विक फ्लोर के व्यायाम हर रोज करें | यह व्यायाम बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण होते हैं, इन व्यायामों को अगर आप सही उम्र में नहीं करोगे तो आगे जाकर आपको ज्यादा दर्द होने की संभावना होती है |
  • इसलिए कम उम्र में ही आपने गुप्तांगों का ख्याल रखना जरूरी है | ऊपर दिए गए सारे तरीकों के बावजूद भी आपके गुप्तांगों में दर्द होता है तो आपने किसी स्पेशलिस्ट डॉक्टर से बात करना जरूरी है | कई बार बहुत सारे लोग गुप्तांगों की समस्या डॉक्टर को बताने में हिचकिचाते हैं, दोस्तों गुप्तांग हमारे शरीर का एक बहुत ही महत्वपूर्ण अंग होता है | इसलिए डॉक्टर को इस समस्या के बारे में बताते समय किसी प्रकार का दबाव ना रखें | इस समस्या का इलाज आप डॉक्टर, काउंसलर, या सेक्स थैरेपिस्ट से भी करवा सकते हो |

यह थे सेक्स के दौरान दर्द के लक्षण, कारण, इलाज और उपाय | दोस्तों अगर आपको हमें कोई सवाल पूछना है तो आप हमें नीचे दिए गए हुए कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हो |

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *