ब्रेस्ट में गांठ के लक्षण कारण और उपचार
स्तनों के उपाय

ब्रेस्ट में गांठ के लक्षण कारण और उपचार

ब्रेस्ट में गांठ के लक्षण कारण और उपचार

नमस्ते, आज हम हमारे सहेलियों को ब्रेस्ट में गांठ के लक्षण कारण और उपचार बताने वाले हें | महिला के स्तनों में जब सूजन, उत्तेजना, वृद्धि, या छाती में चोट लगती है तब महिलाओं को समझ में आता है कि हमारे ब्रेस्ट में गांठ है | महिला के स्तनों में जब गाठ आती है तब महिलाओं के स्तनों में कुछ अलग सा महसूस होता है | देखा जाए तो ब्रेस्ट में गांठ बहुत सारे कारणों से हो सकती है, कई बार ब्रेस्ट में गांठ होने का कारण कैंसर भी हो सकता है |

ब्रेस्ट में गांठ के लक्षण कारण और उपचार
ब्रेस्ट में गांठ के लक्षण कारण और उपचार

ब्रेस्ट में अगर कैंसर हो जाता है तो यह आपके जान के लिए बहुत ही जानलेवा होता है, इसलिए महिलाओं ने ब्रेस्ट में कैंसर की गांठ होने पर बिल्कुल नजर अंदाज नहीं करना चाहिए | अगर आप इस बात को नजरअंदाज करते हो आपकी जान भी ले सकता है | ब्रेस्ट में गांठ होने के कारण स्तनों में संक्रमण, घाव, फाइब्रोएडीनोमा, वसा परिवलन, ऐसी विभिन्न स्तनों की बीमारियां हो सकती है | स्तनों में गांठ होने पर आपने जल्द से जल्द उपचार लेना जरूरी है |

बहुत सारी महिलाएं स्तनों में गांठ होने के कारण विभिन्न प्रकार की दवाइयों का सेवन करती है, हम आपको बताना चाहते हैं कि इन दवाइयों का सेवन करने से अगर आपकी गांठ निकल जाती है तो यह उपचार आपने बरकरार रखना चाहिए | लेकिन दवाइयों का सेवन करने से स्तनों की गांठ नहीं जाती है इसलिए स्तनों में गांठ होने पर डॉक्टर की सलाह जरूर लेना चाहिए | आज हम हमारे सहेलियों को ब्रेस्ट में गांठ के लक्षण, कारण और उपचार बताने वाले हैं |

ब्रेस्ट में गांठ के लक्षण कारण और उपचार -:

ब्रेस्ट कैंसर की गांठ -:

ब्रेस्ट कैंसर की गांठ
ब्रेस्ट कैंसर की गांठ
  • स्तनों में जब अल्सर हो जाता है तब स्तनों में गांठ होने लगती है | स्तन में गांठ हम अल्ट्रासाउंड स्कैन पर चेक कर सकते हैं, यह गांठअगर बढ़ती ही जाएगी तो महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर की गांठ होने की संभावना ज्यादा होती है | स्तनों में अगर कोई गांठ होती है तो इसके आसपास की त्वचा पूरी तरह से लाल हो जाती है, त्वचा लाल होने के कारण यह संक्रमण पूरे स्तनों में फैल कर स्तनों में एक बड़ी गांठ हो सकती है | जो महिलाएं स्तनपान करने वाली होती है उन्हें यह समस्या ज्यादा फेस करनी पड़ती है, इस गांठ को अगर आप समय के पहले नियंत्रण में नहीं लाओगे तो यह धीमे धीमे ट्यूमर हो सकता हें |
  • जिन महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर होता है उन्हें बहुत ही अलग महसूस होता है, बहुत सारी महिलाएं ब्रेस्ट में गांठ होने के कारण अपना आत्मविश्वास कम कर लेती है | पहले स्टेज में जो ब्रेस्ट कैंसर होता है तब महिला को स्तनों में दर्द नहीं होता है | लेकिन जब यह गांठ बड़ी-बड़ी होती जाती है वैसे ही स्तनों में दर्द होने लगता हें |
  • ब्रेस्ट कैंसर जब होता है तब महिलाओं ने अपने स्तनों का पूरी तरह से परिचय करना बहुत ज्यादा जरूरी होता है | सबसे पहले आपने जान लेना चाहिए कि आपके स्तनों में किस हिस्से में गांठ हुई है | आपको स्तनों में जिस हिस्से में गांठ महसूस होगी उस हिस्से पर आपने ज्यादा प्रेशर नहीं आने देना चाहिए |
  • ब्रेस्ट कैंसर की गांठ पहचानने के लिए आपने स्तनों का आकार, स्तनों की आकृति और स्तनों का रंग पहचानना बहुत ज्यादा जरूरी है | आपने दोनों हाथों को उठाकर स्तनों की गांठ की जांच करें जिससे आपको जल्द ही महसूस होगा कि स्तनों की गांठ कहा है | कई बार स्तनों में गांठ होने के कारण निप्पल से भी स्त्राव होने लगता है, कई बार यह स्त्राव हरा, पीला, या रक्त के रूप में भी हो सकता हें |

ब्रेस्ट में गांठ के लक्षण -:

  • देखा जाए तो स्तन में गांठ के लक्षण बहुत सारे होते हैं, लेकिन इन लक्षणों को पहचानना आपको आना बहुत ज्यादा जरूरी होता है | बहुत सारी महिलाओं के स्तनों में गांठ होने के बावजूद भी उन्हें समझ में नहीं आता है कि हमारे स्तनों में गांठ है | इस गांठ को अगर आप नजरअंदाज करोगे तो यह आपके जान के लिए खतरा हो सकता है | अगर आपको स्तनों में कोई गांठ होती है और पीरियड्स के बाद भी यह गांठ कम नहीं होती है तो आपने जरूर समझ जाना है कि यह स्तनों में गांठ हुई है | कई बार यह गांठ धीरे-धीरे बड़ी होती जाती है |
  • जैसे जैसे दिन बितते हें वैसे वैसे गांठ का आकार बड़ा होने लगता है, कई बार स्तनों में चोट लगने के बावजूद भी स्तनों में गांठ होने की संभावना होती है | इसलिए महिलाओं ने अपने स्तनों को हमेशा सेफ रखना बहुत ज्यादा जरूरी है | बहुत सारी महिलाएं स्तनों की तरफ ज्यादा ध्यान नहीं देती है, अगर आप हमेशा ऐसा करोगे तो आपको स्तनों को विभिन्न बीमारियों का सामना करना पड़ेगा | कई बार स्तनों में गांठ के कारण स्तनों की त्वचा पूरी तरह से लाल हो जाती है, स्तनों की त्वचा लाल होने के साथ-साथ निप्प्ल्स में से भी खून निकल सकता है, ऐसे बहुत सारे स्तनों में गांठ होने के लक्षण हें |

ब्रेस्ट में गांठ होने के कारण -:

ब्रेस्ट में गांठ होने के कारण
ब्रेस्ट में गांठ होने के कारण
  • महिलाओं को स्तनों में जब अल्सर होता है तब महिलाओं के स्तन में गांठ होना संभव होता है | बहुत सारी महिलाओं को प्रेगनेंसी के बाद दुग्ध अल्सर होता है | यह अवसर स्तनपान के दौरान फाइब्रोसिस डिस्टिक स्तनों के कारण हो सकता हें, जिन महिलाओं को स्तनों में फाइब्रोएडीनोमा होता है उन्हें भी कैंसर की गांठ हो सकती है |
  • यह बहुत सारे कारण ब्रेस्ट में गांठ होने के कारण है, कई बार ब्रेस्ट में चोट होने के कारण भी  ब्रेस्ट में गांठ होती है | ब्रेस्ट में चोट पहुंचेगी ऐसा बर्ताव आपने कभी भी नहीं करना चाहिए,अगर ब्रेस्ट में गांठ होती ही है तो ब्रैस्ट कैंसर होने की संभावना होती है | इसलिए ब्रेस्ट में गांठ होने पर आपने डॉक्टर से बात जरूर करनी चाहिए, ब्रेस्ट में गांठ होने के बाद आप बायोप्सी प्रक्रिया करके यह गांठ का निदान कर सकते हैं | बायोप्सी यह एकमात्र ऐसा रास्ता होता है जिससे संदेहास्पद भाग में कैंसर होता हें |

ब्रेस्ट में गांठ के उपचार -:

ब्रेस्ट में गांठ के उपचार
ब्रेस्ट में गांठ के उपचार
  • ब्रेस्ट में गांठ के बहुत सारे उपचार होते हैं, लेकिन प्राकृतिक उपचार देखा जाए तो आपने ब्रेस्ट को हमेशा स्वस्थ रखना बहुत ज्यादा जरूरी है | स्तनों में गांठ होने पर आपने स्तनों की हर रोज मालिश करना चाहिए, जैतून के तेल से या नारियल के तेल से स्तनों की मालिश करते हो तो इससे स्तनों की गांठ कम होने की संभावना होती है \ स्तनों की मालिश करने से भी अगर स्तन की गांठ बड़ी होती जाएगी तो स्तनों की मालिश ना करें, सबसे पहले जब आप ब्रेस्ट के गांठ के उपचार के लिए जब डॉक्टर के पास जाओगे तब डॉक्टरों आपको एंटीबायोटिक दवाओं का सुझाव देंगे |
  • लेकिन अगर ब्रेस्ट में गांठ है तो एंटीबायोटिक दवाओं का कोई इलाज नहीं है, ब्रेस्ट में गांठ होने पर गांठ की सर्जरी यह सबसे आसान तरीका हो सकता है | ब्रैस्ट की जब आप सर्जरी करते हो तब यह गांठ फैलने की संभावना भी होती है, इसलिए सर्जरी करते वक्त घाट को फैलने ना दे, कैंसर की गांठ को रेडियोधर्मी किरणों का उपयोग करके हम निकाल सकते हैं | लेकिन यह उपचार गांठ का प्रकार, गांठ का ट्यूमर का आकार, इस पर निर्भर होता हें | ब्रेस्ट की गांठ निकालने के लिए अन्य कारण भी है, लेकिन ज्यादा उपचार ना ले क्योंकि ज्यादा उपचार लेने से आपके शरीर पर इसका गलत असर हो सकता है | स्तनों में चोट के कारण अगर गांठ होती है तो यह गांठ डॉक्टर के साथ चर्चा करके कम कर सकते हो |

यह थे ब्रेस्ट में गांठ के लक्षण कारण और उपचार | दोस्तों अगर आपको हमें कोई सवाल पूछना है तो आप हमें नीचे दिए गए हुए कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हो |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *